एक छोटे गाँव की Dadi ma ki Khani है :- Short Moral Stories in Hindi

एक छोटे गाँव की Dadi ma ki Khani है :

Short Moral Stories in Hindi

dadi ma ki khani
dadi ma ki khani

 

एक छोटे गाँव की Dadi ma ki Khani है  एक छोटा गाँव था। उस छोटे गाँव में एक बूढ़ी Dadi ma रहती थी।

वह बहुत दुबली-पतली थी। उसने अपनी बेटियों के घर पास के गाँव जाने का फैसला किया।

वह Dadi ma अपने रास्ते पर धीरे-धीरे चलने लगी। उस जंगल में एक जंगल था, वह एक भालू से मिलती है।

भालू ने पूछा, तुम Dadi ma कहाँ जा रही हो? और कहा मैं तुम्हें खा जाऊँगी। Dadi ma मैं पास के गांव अपनी बेटियों के घर जा रहा हूं।

मैं एक महीने तक वहां रहूंगी और स्वस्थ और उचित भोजन करुँगी।

मेरे पास बहुत से मक्खन के साथ रोटी खाउंगी। मैं मोटा और स्वस्थ हो जाऊँगी तब तुम मुझे खा सकते हो।

भालू इसके लिए राजी हो गया। उसके बाद वह Dadi ma एक टाइगर से मिली।

टाइगर ने कहा ओह! दादी कहाँ जा रही है, मैं तुम्हें खाऊँगी। बुढ़िया दादी ने उत्तर दिया ओह!

प्रिय टाइगर मैं अपनी बेटियों की बेटियों के गर जा रही हु ।

मैं वहां जाऊँगी और उससे मिलूंगी और एक महीने तक वहां रहूंगी।

मेरे पास बहुत सारे मक्खन के साथ रोटी होगी और खाउंगी ।

मैं मोती हो जाऊँगी और तब तुम मुझे खा सकते हो।

बाघ यह सोचकर भी सहमत हो गया कि उसे एक स्वस्थ बूढ़ी औरत खाने को मिलेगी।

इसलिए वह चला जाता है। उसके बाद वह एक भेड़िया से मिलता है। ओह! Dadi ma ki Khani कहाँ जा रही है? मैं तुम्हे खा जाऊँगी। Dadi Ma ने जवाब दिया मैं अपनी बेटियों के यहाँ जा रही हूँ।

मैं एक महीने तक वहां रहूंगा और मेरे पास बहुत सारी रोटी और पानी होगा।मैं मोटा और स्वस्थ हो जाऊंगा तो तुम मुझे खा लेना।

वुल्फ सहमत हो गया और चला गया।

Dadi ma अपनी बेटियों को लेकर वहां एक महीने तक रही।

उसकी बेटी ने उसे बहुत सारे स्वस्थ भोजन दिए और बुढ़िया सचमुच बहुत मोटी हो गई।

घर लौटते समय उसने अपनी बेटी से कहा। जंगल में बहुत सारे जानवर हैं जो मुझे खाना चाहते हैं।

तब उनकी बेटी ने एक विचार सोचा। उसे एक बड़ा कद्दू मिला। उसने पूरा कद्दू अंदर से खाली कर दिया।

उसने अपनी माँ को कद्दू के अंदर बैठने और धीरे-धीरे चलने के लिए कहा। यदि आप जानवरों से यह कहते हैं

कि मैं उनसे मिल रहा हूं तो मुझे नहीं पता कि बूढ़ी महिला को मेरे कद्दू को धीरे-धीरे चलने की इजाजत दी गई थी।

वह कद्दू इतना बड़ा था। बूढ़ी औरत ने धीरे-धीरे चलना शुरू कर दिया। कुछ समय बाद वह वुल्फ के पार आ गई।

वुल्फ कद्दू को देखकर आश्चर्यचकित था। क्योंकि वह बूढ़ी औरत ओह! बूढ़ी औरत तुम कहाँ जा रहे हो।

बूढ़ी औरत ने कहा कि मैं उस बूढ़ी औरत को नहीं जानता। चलो मेरे कद्दू धीरे धीरे धीरे चलना।

और वह धीरे-धीरे चलने लगी कि भेड़िया डर गया और चला गया। फिर आया टाइगर ओह!

तुम बूढ़ी औरत कहाँ जा रही हो। बूढ़ी औरत ने कहा कि मुझे नहीं पता कि बुढ़िया धीरे-धीरे मेरे कद्दू को धीरे-धीरे चलने देती है।

मुझे नहीं पता कि बुढ़िया मेरे कद्दू को धीरे-धीरे चलने देती है। टाइगर ने सोचा कि यह बुढ़िया नहीं है।

तो वह चला गया। फिर भालू आया। भालू ने खुशी से कहा कि मैं आपके पैरों को देख सकता हूं।

उसने कहा कि आप dadi ma कहाँ जा रही हो? Dadi ma ने कहा कि  मुझे नहीं पता कि बूढ़ी औरत मेरे कद्दू को धीरे-धीरे धीरे-धीरे चलने देती है।

मैं नहीं जानता कि पुराने लड्डू मेरे कद्दू को धीरे-धीरे धीरे-धीरे चलते हैं। Dadi ma ki Khani धीरे-धीरे धीरे-धीरे अपने घर चली गई और वह अपने घर सुरक्षित पहुँच गई।

उसकी बेटी द्वारा उसे दिए गए विचार ने बुढ़िया की जान बचा ली।

 

Nani Ki Purani एक गांव राजकुमारी की khani moral stories for kids in hindi

"<yoastmark

यह कहानी एक गांव राजकुमारी की है जो किसी राजकुमार से शादी नहीं करना चाहती थी

बल्कि किसी मेहनती इंसान से शादी करना चाहती थी राजकुमारी यही सोचती थी

की जो भी जीवन में मेहनत करता है उसे हमेशा अच्छा फल मिलता है

इसलिए वह मेहनती इंसान से शादी करना चाहती थी मगर राजा को यह बात मंजूर नहीं

थी क्योकि वह अपनी बेटी का विवाह ऐसे आदमी से नहीं करना चाहता था जो मेहनती तो हो ,

मगर उसके पास धन न हो , क्योकि अगर धन नहीं होगा तो मेरी बेटी का जीवन अच्छा नहीं

होगा हर रोज यही बाते सामने आती थी क्योकि राजा हर रोज ऐसा करता था की वह अपनी बेटी को समझाया करता था

मगर वह समझने को तैयार नहीं थी , राजा ने रानी से कहा की मुझे कुछ दिन के लिए नगर से बाहर जाना होगा

क्योकि मुझे दूसरे राजा से मुलाकात करनी है

जब तक में आता नहीं हु तब तक राजकुमारी का ध्यान रखना यह कहकर राजा चले जाते है

उधर जब राजकुमारी को पता चलता है की पिताजी चले गए है तो वह अपनी माता से कहती है

की मुझे कुछ दिन के लिए नगर से बाहर जाने दो क्योकि में बहुत समय से कही भी बाहर नहीं

गयी हु मगर माता ने बहुत मना किया था क्योकि राजा इस बात मना कर गए थे की राजकुमारी कही भी बाहर नहीं जायेगी ,

मगर राजकुमारी नहीं मानी थी वह अपनी माता से बहुत बार कहकर आखिर अपने मामा के यहां पर चली गयी थी

मामा एक छोटे से गांव में रहते थे उन्हें पता था की आज राजकुमारी आ रही है क्योकि उन्हें बता दिया गया था

अब मामा को इस बात का ध्यान रखना था की कोई भी उन्हें पहचान न पाए क्योकि अगर कोई उन्हें पहचान गया

तो सभी लोग यही पर हर रोज आ जायँगे कुछ देर बाद राजकुमारी आ गयी थी मामा ने बताया था

की यहां पर कुछ बातो का ध्यान रखना होगा जिससे तुम्हे यह पर कोई पहचान न पाए

राजकुमारी ने कहा कि आप चिंता न करे कोई मुझे नहीं पहचान पायेगा कुछ देर बाद मामा ने कहा की मुझे कुछ देर के लिए जाना होगा

तुम अपना ध्यान यह पर रखना मे जल्दी ही आ जाऊंगा कुछ देर बाद मामा चला गया था

उनके जाने के बाद एक आदमी आता है वह बहुत ही गरीब लग रहा था

वह उनके मामा के बार में पूछता है मगर वह अभी नहीं है

यह बात वह राजकुमारी कहती है वह कहता है की कोई बात नहीं है में यह अपर हर रोज आता हु

क्योकि मुझे उनका कुछ काम करना पड़ता है

इसलिए आप चिंता न करे में वह काम कर लेताह कुछ देर बाद ही वह आदमी लकडिया लोड़ने लग जाता है ।

राजकुमारी उसे देखती रहती है क्योकि वह बहुत मेहनत से काम कर रहा था उसे काम करते हुए

देख राजकुमारी को यही लग रह था की अगर मेरी शादी इससे हो जाए तो बहुत अच्छा होगा

क्योकि यह बहुत मेहनती भी है और बहुत गरीब लग रहा है राजकुमारी को अब यही लग रहा था

की उनकी तलाश अभी यही पर पूरी हो जाती है , क्योकि जिसकी तलाश उन्हें थी वह मिल गया था

वह आदमी अपने काम में लगा हुआ था उसका ध्यान अपने कमा पर था मामा अभी नहीं

आये थे नानी ने अपनी कहानी बीच में रोक दी थी सभी ने कहा की उसके बाद नानी क्या हुआ

था नानी ने कहा कि अब तुम मुझे बताओ की क्या राजकुमारी को उससे शादी करनी चाहिए या नहीं ,

सभी ने एक बात कही थी की राजकुमारी को उससे शादी नहीं करनी चाहिए , क्योकि वह बहुत अमीर है

मगर वह आदमी बहुत गरीब है इसलिए शादी नहीं करनी चाहिए तभी नानी कहती है की ठीक है अब कहानी सुनते है

की आगे क्या होता है नानी फिर से कहानी कहती है

अभी मामा कुछ देर बाद आ गए थे वह आदमी काम कर रहा था

कुछ देर बाद काम पूरा हो गया था , अब वह आदमी जाने लगा था

उस आदमी के जाने के बाद राजकुमारी ने उस आदमी के बारे में सब कुछ पता कर लिया था

वह किस जगह पर रहता है और उसके घर में कौन है जब सब कुछ पता लग गया तो राजकुमारी उसके पास जाती है

वह राजकुमारी को आता हुआ देख डर जाता है क्योकि उसने उसे वेआ पर देखा था

जिस जगह पर वह काम करता था राजकुमारी उसे सब कुछ बता देती है वह मना करता है

मगर राजकुमारी नहीं मानती है और शादी कर लेती है शादी करके वह मामा के पास आती है मामा यह देख डर जाता है

वह कहता है की यह सब कुछ इस आदमी ने किया है मगर राजकुमारी कहती है

की यह इसने नहीं , किया है बल्कि यह मेरी मर्जी है मामा उसे महल की और ले जाता है

क्योकि उसने वह किया है जो उसे नहीं करना चाहिए था जब वह महल में चला जाता है

तो रानी को भी यह पता चल जाता है अब रानी को डर लगता है

क्योकि राजा को जब यह पता चलेगा तो बहुत गुस्सा करेंगे

यह बता सोच ही रहे थे की राजा भी आ जाते है राजा देखते है

की यह क्या हो रहा है वह राजकुमारी से कहने लगते है

की तुमने वही किया है जो मेने मना किया था मगर अब क्या किया जा सकता है , जो गया था

वह अब बदला नहीं जा सकता था राजा के राज्य पर हमला हो जाता है वह आदमी कुछ भी नहीं सोचता है

और राजा की मदद करने चला जाता है राजा को जब यह पता चलता है ककी वह मदद कर रहा है

तो राजा को भी लगता है की शायद उसकी लड़की ठीक ही कर रही थी

क्योकि उस आदमी ने राजा के साथ मिलकर युद्ध किया था और जीत भी गए थे

Nani Ki Purani कहानी  अब बच्चो बताओ की यह Dadi ma ki Khani एक राजकुमारी की Puran  kahaniya कैसी लगी है सभी को अब लग रहा था की नानी ने बहुत अच्छी कहानी सुनायी थी ।

MORE RELETED MORAL STORIES

New moral stories in Hindi : महेनति किसान के तीन बेटे की कहानी

 

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *