Mastering Objections in Network Marketing companies questions in hindi

Mastering Objections in

 

Mastering Objections in Network Marketing companies questions in hindi

Mastering Objections in companies

41 सब सही है साहब , आपकी हर बात ठीकानाको भी राजी नहीं कर सकता । मेरे कहने से तो कोई नहीं आएगा ?

सर , आप सही बोल रहे हैं , पहले जब मैंने यह बिजनेस देखा तो मुझे भी ऐसा ही ला मेरे कहने से कोई नहीं आएगा , लेकिन जब मेरे स्पांसर ने बताया कि हमारे दिमाग में एसा रहा है कि हम किसी को राजी नहीं कर पायेंगे और हमारे कहने से कोई नहीं आएगा ।

ता इसका मतलब है कि यहाँ हमारा आत्मविश्वास बहुत कम है और हमारी समाज में कोई साम प्रतिष्ठा नहीं है । सबसे पहले तो हमें अपने आत्मविश्वास को जागृत करना होगा , क्योंकि बिना आत्मविश्वास के आदमी कहीं भी कामयाब नहीं हो पाता है ।

दूसरी बात हमारी सामाजिक प्रतिष्ठा भी अच्छी होनी चाहिए हमें ऐसे संगठन से जुडना चाहिए , जहाँ हमें सम्मान भी मिले । और यह बिजनेस इन दोनों चीजों के अलावा कई अन्य चीज भा दिलाने में सक्षम है ।

दूसरा इस बिजनेस में तो हमें राजी करना पडेगा ऐसा कुछ नहीं है । यह तो जिंदगी बदलने वाला अवसर है । जिसकी जानकारी प्रॉस्पेक्ट खुद ही आपके साथ जुडने के लिए प्रेरित हो जाएगा और जो इच्छुक नहीं है उसको हमें राजी करने की जरूरत नहीं है ।

दूसरा इस बिजनेस में सब लोग प्रॉडक्ट प्रमोट भी नहीं कर सकते , यहाँ 10 – 7 – 4 – 1 रूल कार्य करता है , इसलिए हमें चिंता करने की जरूरत नहीं है और ना ही खुद को अंडरएस्टीमेट करने की ।

शुरूआत में मुझे भी लगा कि पता नहीं टीम बना पाऊँगा या नहीं , लेकिन आज मुझे ये कहते हुए फक्र होता है 2 की नहीं , 20 की नहीं , 200 की नहीं , मेरी टीम लगातार बढ़ ही रही है । वैसे हमारे अपलाइन ऐसे है जिनकी टीम हजारों – लाखों की है तो हमारी और आपकी क्यों नहीं हो सकती ।

42 . ये टोपी पहनाने का धंधा है , आपको किसी ने पहना दी तो हमको पहनाने चले आए ।

आप बिल्कुल सही बोल रहे हैं , ये टोपी पहनाने का ही बिजनेस है लेकिन ये टोपी पहनकर बहुत सारे लोगों ने अपनी और अपने परिवार की जिंदगी बदली है , बॉस से छुटकारा पाया है , देश – विदेश की यात्रा की , अपने नाम के साथ करोडपति लगाया है , साईकिल से कार तक पहुँचे है , ये ऐसी टोपी है जो ठंड , गरमी और बरसात से बचने के काम आती है , ये मंच , माईक और माला भी दिलाती है , इस टोपी को पहनने के बाद लोग ज्यादा स्मार्ट और ज्यादा आत्मविश्वासी बन जाते हैं , इस टोपी को पहनकर बहुत लोगों के परिवार में खुशियाँ आई है ।

इस टोपी को पहनने से परिवार में सुकून मिला है । ऐसी टोपी को मैं तो पहनूँगा ही लेकिन ये खुशियों भरी टोपी पूरी दुनिया को पहनाने के लिए तैयार हूँ । मुझे लगता है आपको भी इसे पहनने मे देर नहीं करनी चाहिए ।

43 . मान लीजिए कि मैंने किसी को फंसा कर मेंबर बना ही लिया पर दो आगे मैंबर नहीं बना पाया , तो वो मुझे गाली देगा कि नहीं , मुझे उसकी आहलगेगी की नहीं ?

सर , आप बिल्कुल सही बोल रहे हैं , पहले पहल मेरे दिमाग में भी यह बात आई थी लेकिन इस बिजनेस को जब मैंने गहराई से समझा तो पता चला कि इस बिजनेस में फंसना , फँसाना या गाली देना या आह लगने जैसी कोई बात नहीं है । क्योंकि यहाँ पर हम किसी को मेंबर नहीं बनाते हम तो इस बिजनेस में कुछ ब्रांडेड प्रॉडक्ट को शेयर करते हैं तथा उन प्रॉडक्ट को लेने के बाद आगे रिकमण्ड करके एक संगठन बनाने पर उसके प्लान में बताए गए आधार पर एक निश्चित कमीशन मिलात है ।

अब इस परिस्थिति में उस आदमी को हर हालत में या तो फायदा होगा या बहुत बड़ा फायदा होगा । अगर उसने आगे टीम नहीं बनाई , संगठन नहीं बनाया तो उसको पैसे के बदले में प्रॉडक्ट या बीमा पॉलिसी का फायदा तो मिलेगा ही मिलेगा ।

लेकिन जरा सोचिए , अगर उसने कुछ मेहनत करके टीम वर्क में मिलकर अपना संगठन बना लिया तो उसको कभी न रूकने वाली आमदनी पीढ़ी दर पीढ़ी मिलती रहेगी , इसलिए हम कहते हैं या तो फायदा होगा या बहुत बड़ा फायदा होगा ।

वैसे यहां , यह काम करने के पैसे मिलते हैं और कमीशन मिलता है ये कोई नई बात तो नहीं है , हर जगह पर प्रॉडक्ट खरीदने के पैसे लगते हैं और हर जगह काम करने के पैसे मिलते हैं तो फिर यहां पर क्या कोई बाबा जी का भंडारा है कोई काम भी नहीं करेगा और गाली देगा और आपको आह लगेगी । इस बात की कोई तुक नहीं है ।

ये महज एक भ्रम है और इस बिजनेस को नहीं समझना अज्ञानता का उदाहरण है । जो इस बिजनेस को समझ लेगा वह कभी भी ऐसी बातें नहीं करेगा । मैं जरूर सलाह देना चाहूँगा कि आप कुछ मीटिंग और प्लान में जाकर अच्छे से समझने की कोशिश करें और कामयाब बिजनेस का फायदा उठाएं ।

44 . मेरे सर्किल में कोई ऐसा नहीं है जो इसे करना चाहेगा । Mastering Objections in Network Marketing companies

आप बिल्कुल सही बोल रहे हैं । मुझे भी ऐसा ही लगता था कि मेरा कोई ऐसा सर्किल नहीं है लेकिन जब पता चला कि इस बिजनेस को करने के लिए कोई जरूरी नहीं है कि आप केवल अपने सर्किल में ही कर सकते हैं ।

यही एक ऐसा बिजनेस है जिसे हम पूरे हिन्दुस्तान में कहीं भी कर सकते हैं । और हम प्रतिदिन अपना सर्किल नया बना सकते हैं । इसलिए चिंता नहीं करना , आप करने की ठानें तो रास्ते अपने आप दिखाई देने लग जाएंगे ।

45 . मैं तो मेम्बर बन जाऊँगा लेकिन आगे मेम्बर नहीं बना पाऊंगा ।

आप बिल्कुल सही बोल रहे हैं , शुरूआत में मुझे भी ऐसा प्रतीत हुआ था ला जानकारी मिली तो पता चला कि इस बिजनेस में हम मेम्बर बनाने वाली स्काम मनह टीम बनाने ( संगठन बनाने का ) का सुअवसर है । ये संगठन बनाने का काय , अम बनने के लिए अति आवश्यक है । क्योंकि जितनी बडी टीम , उतनी बडी सफलता होती है ।

दूसरी बात यह है कि जब हमारे जैसे कलेवर वाले दसरे लोग यह बिजनेस कर सकते हैं तो हम क्यों नहीं , वैसे भी हमारे अंदर अथाह शक्तियाँ छपी हई है जिन्हें जागृत करके कुछ भी कर सकत हैं फिर ये बिजनेस तो एक साधारण कार्य है जिसमें कोई रिस्क भी नहीं है । Mastering Objections in Network Marketing

46 . मैंने ज्वाइन कर लिया और प्रॉडक्ट भी ले लिया है । लेकिन अभी टूल्स तो फ्री मिलने चाहिए ।

सर , आपका सवाल बिलकुल सही है । जब मैंने ज्वाईन किया था तो यही सवाल मेरे दिमाग में आया था और मैंने सोचा था कि ये सब प्लान PRESENTATION FOLDER पुस्तक तथा इनकी जानकारी कीCD ( Audio / video ) इत्यादि या तो हमें कंपनी की तरफ से मिलनी चाहिए या जो हमारा स्पांसर है उससे मिलनी चाहिए , लेकिन मझे उस समय यह नहीं मालूम था कि हम बिजनेस में कंपनी के नौकर नहीं है । हम तो यहाँ एक IBO ( Independent Business Owner ) स्वतंत्र व्यापार के मालिक की हैसियत से एक ( Associate Distributor ) हैं ।

Mastering Objections in Network Marketing अगर कंपनी हमें Tools , Presentation , Folder Book इत्यादि देगी तो ( मालिक ) स्वतत्र व्यापारी कहाँ रहे , हम तो नौकर की श्रेणी में आ जाएंगे और हम इस बिजनेस में आकर बिल्कुल नहीं चाहते कि यहाँ पर भी हमारा कोई बॉस या मालिक हो । इसलिए मालिक होने के नाते अपने टूल्स के पैसे देते हैं उसका फायदा भी उठाते हैं ।

लेकिन जहाँ हमे कोई फ्री की सामग्री मिलती है वह अनायास ही पड़ी रहती है और किसी ने खूब कहा है कि ” जहाँ जाता है धन वहीं जाता है वैसे ये सभी टूल्स , पुस्तक , सीडी इत्यादि खरीदने के लिए हम स्वतंत्र है , हम चाहे तो खरीदे , चाहे तो बिल्कुल ना खरीदें ।

लेकिन हमें मालूम नहीं इन टूल्स की छोटी सी कीमत देकर हम ढेर सारा फायदा उठाते हैं , मैं तो यह कहूँगा कि टूल्स पर होने वाला खर्च नहीं है , यह तो एक समझदारी भरा इन्वेस्टमेंट है जिससे निश्चित फायदा मिलता है , बस हमें लेने के लिए उन्हें प्रयोग करना है वैसे भी हम अपनी जिंदगी को फास्ट स्पीड देने के लिए जिन टूल का प्रयोग करते हैं वो हमारी स्पीड बढ़ाकर हमारा समय बचाते हैं , जैसे Bike , Train , Car , Airoplane इत्यादि । ऐसे ही हम सिस्टम द्वारा अनुमोदित टूल्स के माध्यम से अपने बिजनेस की रफ्तार बढ़ा सकते हैं और एक Log id पर लाखों रूपए महीने तक कमा सकते हैं ।

क्योंकि जितना हम Late Capping पर पहुंचेंगे ( 2 लाख प्रति सप्ताह ) उतना ही हमारा नुकसान है , इसलिए टूल्स को लेकर तथा प्रमोट करके हमें कम समय में ज्यादा सफलता लेने के अवसर को तुरंत पकड़ना चाहिए ।

47 . इस बिजनेस को किसे करना चाहिए और किसको नहीं करना चाहिए । Mastering Objections in Network Marketing companies

सर , जो इंसान महत्वाकांक्षी है और अपनी काबिलियत का लोहा मनवाना चाहता है या अगर कोई मौका मिले तो कुछ करके दिखाना चाहता है तथा अपने जीवन स्तर को ऊपर उठाना चाहता है उसको ये बिजनेस जरूर करना चाहिए । और जिस आदमी में ऊपर उठने की तमन्ना नहीं है और लो प्रोफाइल में ही अपनी जिंदगी गुजारना चाहता है तो उसे कोई जरूरत नहीं , उसे नहीं करना चाहिए ।

48 . मैंने दरअसल सुना है कि बिजनेस में चालाकी चाहिए होती है और कदम – कदम पर झूठ बोलना पडता है ।

इस बिजनेस में चालाकी और झूठ नहीं चलते हैं , क्योंकि यहाँ पर जीवन भर के संबंध बनाने पडते हैं और लगातार एक दूसरे के साथ काम करना है और आप समझ सकते हैं कि झूठ और चालाकी के दम पर लंबे समय तक संबंध या रिश्ते नहीं चलते तो सच्चाई और एक – दूसरे पर विश्वास से चलते हैं ।

दूसरी बात यह है कि हम इस बिजनेस को एक आध्यात्मिक और दिव्य बिजनेस की झलक में देखते हैं , यहाँ पर हमेशा सकारात्मक सोचना स्वयं को आगे बढ़ाना और दूसरों को हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना तथा सबके भले में ही अपना भला होता है , ये companies Network Marketing companies बिजनेस भगवान के बनाए आध्यात्मिक रास्ते पर चलकर ही मजबूत बन सकता है ।

इस बिजनेस में हमेशा सिखाया जाता है कि भगवान में विश्वास रखो , आप जरूर सफल होंगे , परिवार के साथ ऐसा व्यवहार करो , जैसा हम अपने लिए चाहते हैं और जो इंसान वर्तमान में कार्य कर रहा है , उसे ईमानदारी से करें क्योंकि जो इंसान अपने वर्तमान में अच्छा है , वह यहां पर इस बिजनेस में भी अच्छा ही रहेगा ।

49 . मैं तो पहले से ही नौकरी या बिजनेस कर रहा हूँ , मझे इस बिजनेस का व जनस कर रहा हूँ , मुझे इस बिजनेस को करने की क्या जरूरत है ? हम अपने में संतुष्ट है , हमको ज्यादा पैसों का लालच नहीं है ।

सर , आप बिल्कुल सही बोल रहे हैं . आपको ही नहीं जब मैंने इस बिजनेस को देखा था , मुझभा ऐसा ही लगा था कि नौकरी वाले को इसको करने की क्या जरूरत है । लेकिन अब बाद मर का पता चला तो महसूस किया कि नौकरी वाले कोया सैटल्ड बंदे को ही ज्यादा जरूरत होता ह और जब उसकी नौकरी या खुद का काम अच्छा चल रहा है तब ज्यादा जरूरत है ।

क्याकि तभी खोदा जाता है जब बहुत प्यास न लगी हो ? क्योंकि जब प्यास लगी होगी तब तो आप कुआ खोद ही नहीं पायेंगे । इसलिए इस बिजनेस को करने की अभी ज्यादा जरूरत है , जब नाकराव व्यवसाय ठीक चल रहा है , अगर सचमुच में पता ही करना है मुझे इस companies Network Marketing  Business की जरूरत है या नहीं तो हमें एक एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए और वह एक्सरसाइज है परिवार के साथ अपना ग्रप फोटो देखें और अपनी फोटो पर क्रॉस लगा दें ।

अगर आपके न रहने से आपके परिवार का जीवन शैली वही रहती है तो आपको इस बिजनेस की जरूरत नहीं है । वैसे भी जो हम आज ले पा रहे हैं चाहे नौकरी से या अपने व्यवसाय से , उससे संतुष्ट होना तो प्रकृति और समाज की प्रोग्रेस को रोकना जैसा है । आज भी बड़े – बड़े धन – कबेर अपने कारोबार को बढ़ाने में लगे हुए है । अगर उनको आगे बढ़ने की जरूरत है , हम और आपको क्यों नहीं ? वैसे भी हमें रूकना नहीं चाहिए , थकना नहीं चाहिए , क्योंकि रुका हुआ इंसान और ठहरा हआ पानी दोनों सड़ जाते हैं । हमें तो नदी की अविरल धारा की तरह लगातार बहना चाहिए ।

50 . आपने तो , पाँच मिनट में हमें करोड़पति बनने का रास्ता बता दिया । क्या अमीर बनना इतना आसान काम है ?

बिल्कुल सही कह रहे हैं । लेकिन सर आप यह बताएं गरीबी में रहना कौन सा आसान है । वह भी इस महंगाई के जमाने में नि : सन्देह इस Direct Selling Network Marketing companies Business को करने में जो कुछ भी चैलेंज हैं । वह अस्थाई होते हैं लेकिन इसमें काम न करने से जो समस्या आएगी वह तो स्थाई रहेगी अनुशासन और पछतावा दोनों ही कष्टकारक हैं । ज्यादातर लोगों को इनमें से एक को चुनना होता है । जरा सोचिए ! इन दोनों में से कौन ज्यादा तकलीफ देह है ।

1 . Top 10 Objection Handling In Network Marketing companies Business Step By Step

2 . Top 10 Important Network Marketing companies Business Questions In Hindi Step

5 thoughts on “Mastering Objections in Network Marketing companies questions in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *